मेरी चूत पसंद है compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit pddspb.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: मेरी चूत पसंद है

Unread post by raj.. » 02 Nov 2014 18:14


Meri chut pasand hai paart--2

gataank se aage.......
Chee kitne gande hai aap" Karishma machaltee hui boli. Tab RasikLal Jee
Karishma ko chumte hue bole, "are mai to ganda hun hi, lekin tu kya
kam gandee hai? Apne sasur ke samne bilkul nangee paree hui hai
aur apni cunchion ko sasur se masalwa rahee hai? Ab bata kyon
jyada ganda hai, mai ya tu?" Phir RasikLal Jee ne Karishma se
pucha, "accha eh bat ki chumchee masalai se tera kya hal ho raha
hai?" Karishma apne sasur se lipt kar boli, ""oooohhhhh aur jore se
haan sasurjee aur jore se dabaao badaa maja aaraha hai mujhe,
apka hath auraton ke chumchee se khelne me bahut hi mahir hai.
Apko pata hai ki auraton ki chunchee kaise dabaya jata hai. Aur jor
se dabaiye, mujhe bahut maza aa raha hai. Phir Karishma apne
sasur ko apne hathon se bandhte hue boli, "ab bahut ho gaya hai
chunchee se khelna. Aapko iske aage jo bhi karne wale hain jaldee
kijiye, kaheen Ramesh na aa jaye aur meri bhi choot me khujlee ho
rahee hai." "Abhi lo, mai abhi tujhko apne is mote lund se chodta hun.
Aaj tujhko mai aisa chodunga ki tu jindagee bhar yad rakhegee" itna
kah kar RasikLal Jee uthkar Karishma ke pairon ke beech ukru ho kat
baith gaye.
Sasurko apne oopper se uthte hi Karishma ne apni dono tangon ko
faila kar oopar utha liya aur unko ghutne se mor kar apna ghutna
apne chunchion par laga liya. Isse Karishma ki choot puri tarah se
khul kar oopar aa gayee aur apne sasur ke lund apni choot ko
khilane ke liye tayar ho gayee. RasikLal Jee bhi uth kar apna dhoti
utar, underwear, kurta aur banian utar kar nange ho gaye aur phir se
Karishma ke khule hue pairon ke beech me aakar baith gaye. Tab
Karishma uth kar apne sasur ka tantanaya hua lund apne nazuk
hathon se pakar liya aur boli, "ooohhhhh sasurjee kitna mota aur
sakht hai apka yai." RasikLal Jee atb Karishma ke kan se apna munh
laga kar bole, "mera kya? Bol na Karishma, bol" RasikLal Jee apne
hathon se Karishma ka gadraya hua chumcheon ko apne dono
hathon se masal rahe thee aur Karishma apne sasur ka lund pakar
kar muthee me bandhte hue boli, " Apka eh penis sssshhhhhhhh
uuuummmmmmmaaaahhhh." RasikLal Jee phirse Karishma ke kan
par dhire se bole, "Karishma hindi mai bolo na iska naam please".
Karishma sasur ke lund ko apne hathon me bhar kar apni nazar
neechee kar ke apne sasur se boli, "mai nahee janta, aap hi bolie na,
hindi me isko kya kahte hain." RasikLal Jee ne hans kar Karishma ki
chunchee ke chuste hue bole, "are sasur ke samne nangee baithee
hai aur eh nahee jantee ki apne hath me kaya pakar rakhee hai? Bol
beti bol iko hindi me kya kahte aur isse abhi hum tere sath kya
karenge."Tab Karishma ne sharma kar apne sasur ke nagee chatee
me munh chupate hue boli, "sasurjee mai apne hathon se apka khara
hua mota lund pakar rakhee hai, aur thori der ke bad aap is lund ko
meri choot ke andar dal kar meri chudai karenge. Bas ab to khush
hain aap. Ab mai bilkul besharm hokar aapse bat karungee." Itna sun
kar RasikLal Jee ne tab Karishma ko phir se palang par peeth ke bal
leta diya aur apne bahu ke tango ko apne hathon se khol kar khud un
khulee tango ke beech baith gaye. Baithne ke bad unhone jhuk kar
Karishma ki choot par do teen chumma diya aur phir apna lund apne
hathon se pakar kar apni bahu ki choot ke darwaje par diya. Choot
par laund rakhte hi Karishma apni kamar utha utha kar apni sasur ke
lund ko apni choot me lene ki koshish karne lagee. Karishma ki
betabee dekh kar RasikLal Jee apne bahu se boli, "ruk chinal ruk,
choot ke samne lund aate hi apni kamar uchka rahee hai. Mai abhi
tere choot ki khujlee dur karta hun." Karishma tab apne sasur ke
chatee par hath rakh kar unki nipple ke apne ungleon se masalte hue
boli, "oooohhh sasurjee bahut ho gaya hai. Aab bardasht nahin ho
raha hai aao naa ooooohhh please sasurjee, aao na, aao aur jaldee
se mujhko chodo. Aab der maat kaaro Aab mujhe chodo na aab aur
kitni der karenge sasurjee. Sasur jee jaldee se apna eh mota lund
meri choot me ghuser dijiye. Mai apni choot ki khujlee se pagal hue ja
rahee hun. Jaldee se mujhe apne lund se chodiye. Ah! Oh! Kya mast
lund hai apka." RasikLal Jee apna lund apne bahu ki choot me thelte
hue bole, "bah re mere chinal bahu, tu to bari chuddakar hai. Apne
munh se hi apne sasur ke lund ki tareef kar rahee hai aur apni choot
ko mera lund khilane ke liye apni kamar uchka rahee hai. Dekh mai
aaj rat ko tere choot ki kya halat banata hun. Sali tujhko chod chod
kart teri choot ko bhosra bana dunga" aur unhone ek hi jhatke ke
sath apna lund Karishma ki choot me dal diya.Choot me apne sasur
ka lund ghuste hi Karishma ki munh se ek halkee si chikh nikal gaye
aur usne pane hathon se apne sasur ko pakar unka sar apni
chuncheon se laga diya aur bolne lagee, "Wah! Wah sasur jee kya
mast lund hai aapka. Meri to choot puri tarah se bhar gaye. Ab jor jor
se dhakka ma kar meri choot ki khujlee mita do. Choot me bahut
khujlee ho rahee hai." "Abhi Lo mere chinal chuddakar bahu, abhi
mai teri choot ki sari ki sari khujlee apne lund ke dhakke ke sath
mitata hun" RasikLal Jee kamar hila kar jhatke ke sath dhakka marte
hue bole. Karishma bhi apne saur ke dhakke ke sath apni kamar
uchal uchal kar apni choot me apne sasur ka lund lete boli, "Oh! Ah!
Ah! Sasurjee maza aa gaya . Mujhe to tare nazar aa rahen hai. Apko
waaki me aurat ki choot chodne ki kala aatee hai. Chodie chodie
apne bahu ki mast choot me apna lund dal kar khoob chidie. Bahut
maza mil raha hai. Ab mai to aapse roz apni choot chudwaungee.
Boliye chodenge na meri choot?" RasikLal Jee apni bahu ki bat sun
kar muskura diye aur apna lund uski choot ke andar bahar karma jari
rakha. Karishma apni sasur ki lund se apni choot chudwa kar behal
ho rahee thee aur Barbara rahee the, "aaaahhhhh sasurjeeeee jorrrrr
seeee. Hannnn sasyrjeee joorrrrr joorrrr se dhakkkkaaa lagiiiiiiiieeee,
aurrrrr joorrr seeee chodieeeee apni bahuuu ki chootttt ko. Mujheeee
bahuutttt acchhhhaaa laaaggg rahhhhaaa haiiii, Ooooohhhh aur jur
se chodo mujhe aaaahhhh sauuuurrrrjeee aur jor se karo
aaaaahhhhhhhhhh aur ander jor sai. Ooooohhhh deeaarrr
ooooohhhhhh uuuuuuffffff aaaahhhhh aaaahhhhhh Uuuiiiiii aaahhhhh
uuuummmmaaaaaaaahhhhhhhhh ooooooohhhhhhh."
Thori der tak jor jor dhakko se apne bahu choot chodne ke bad
RasikLal Jee ne apna dhakkon ki rafter dheme kar diya aur Karishma
ki chumcheon ko phir se apne hathon me pakar kar Karishma se
pucha, "bahu kaisa lag raha apne sasur ka lund apni choot me pilwa
kar?" Tab Karishma apni kamar utha utha kar choot me lund ki chot
leti hui boli, "sasurjee apse choot chudwa kar mai aur meri chut dono
ka hal hi behal ho gaya hai. Aap chut chodooneeee me bahut
experttttt hainnnnn badaaa majaa aa rahaa hai mujhe sasurjee
ooohhhhh sasurjee aap bahut ach! chha chodte hain aaaahhhhhh
uuuuuuhhhhhhhhhh. Oooooffffffff sasurjee aap bahut hi expert hain
aur apko auraton ki chut chod kar auraton ko sukh dena bahut
acchheee tarah se aatta hain. Mujhe bahut acchha lag raha hai
yyoonn hii haan saurjeeee yoonn hii chodo mujhe aapppp baahut
achchhe ho baass yyoon hi chodai karo meri ooohhhhhhh khoob
chodo mujhe. RasikLal Jee bhi Karishma ki baton ko sun kar bole, "le
randi, chinal le apne chut me apsne saur ke lund ka thokar le. Aaj
dekhten hai ki tu kitni bari chinal chuddakar hai. AAj mai teri chut ko
apne halavee lund se chod chod kar bhosra bana dunga. Le meri
chudakkar bahu le mera lund apni chut se kha." Govindje itna kah kar
phir se Karishma ki chut me pana lund jor jor se pelne lage aur thori
der ke apna lund jar tak thans kar apni bahu ki chut ke andar jhar
gaye. Karishma bhi apne saur ki lund ko chutautha utha kar apni chut
se khatee khatee jhar gayee. Thori der tak dono sasur aur bahu apni
chudai se thak kar sust pare rahe.Thori der ke bad Karishma ne apni
ankh kholi aur apne sasur aur khud ko nangee dekh kar sharma kar
apne hathon se apna chehera dhak liya. Tab RasikLal Jee uth kar
pahale bathroom me ja kar apna lund dho kar saf karne ke bad phir
se Karishma ke pas baith gaye aur uski sharer se khelne lage.
RasikLal Jee ne apne hathon se Karishma ka hath uske chehere se
hatha kar apne bahu se pucha, "kyon, chinal chuddkar randee
Karishma maza aya apne sasur ke lund se apni chut chudwa kar?
Bol kaisa laga mera lund aur uske dhakke?" Karishma apne hathon
se apne sasur ko bandh kar unko chumte hue boli, "babujee apka
lund bahut shandar hai aur isko kisi bhi aurat ki chut ko chod kar
maza dene ki kala ati hai. Lekin, subse acchha mujhe apka chidte
hue gandee bat karna laga. Such jab aap gandee bat krate hain aur
chodte hai to bahut acchha lagta hai." RasikLal Jee ne apne hathon
se Karishma ki chunchee ko pakar kar masalte hue bole, "are chinal,
ja hum ganda kam kar rahen hain to gandee bat karne me kya fark
parta hai aur mijhko to chudai ke samay galee bakne ki adapt hai.
Acchha ab bol tujhe mera chudai kaisee lagee? Maza aay ki nahee,
chut ki khujlee metee ki nahee?" Karishma ne tab apne hathon se
apne sasur ka lund pakar kar sahalate hue boli, "sasurjee apka lund
bahut hi shandar hai aur mujhe apse apni chut chudwa kar bahut
maza aaya. Lagta hai ki apke lund ko bhi meri chut bahut pasand
aaya. Dekheye na apka lund phir se khara ho raha hai. Kya bat ek
bar aur meri chut me ghusna chahata hai kya?" Govimdjee ne tab
apne hath Karishma ki chut par pherte hue bole, "Sali kutia, ek bar
apne sasur ka lund kha kar teri chut ka man nahee bhara, phir se
mera lund khana chahatee hai? Theek hai mai tujhko abhi ek bar phir
se chodta hun."RasikLal Jee ki bat sun kar Karishma jhat se uth kar
baith gayee aur apne sasur ke samne jhuk kar apne hath aur pair ke
bal baith kar apne sasur se boli, "babujee, ab meri chut me peeche
se apna lund dal kar chodia. Mujhe peeche se chut me lund dalwane
me bahut maza aata hai." RasikLal Jee ne tab apne samne jhuki hue
Karishma kie chutar par hath pherte hue Karishma se bole, "Sali
kuttee tujhko peeche se lund dalwanw me bahut maza aata hai? Aisa
to kutia chudwatee hai, Kya tu kutia hai?" Karishma apna sir peeche
ghuma kar boli, "han mere codu sasurjee may kutia hun aur is samay
aap mujhe kutta ban kar meri chut chodenge. Ab jaldee bhi katiye aur
shuru ho jaea jaldee se meri chut me apna lund daliye." RasikLal Jee
apne lund par thuk lagate hue bole, "le reni randee bahu le, mai abhi
teri phudktee chut me apna lund dal kar uski khabar let hun. Sali tu
bahut chuddakar hai. Pata naheen mera beta tujhko shant kar
payega ki nahee." Aur itna kahkar RasikLal Jee apne bahu ke
peeche jakar uski chut apne unglion se phaila kar usme apna lund
dal kar chodne lage. Chodte chodte kabhi kabhi RasikLal Jee apna
unglee Karishma ki gand me ghusa rahen the aur Karishma apni
kamar hila hila apni chut me sasur ke lund ko andar bhar karwa
rahee thee. Thori der ke chodne ke bad dono bahu aur saur jhar
gaye. Tab Karishma uth kar bathroom me jakar apna chut aur jhange
dhokar apne bistar par aakar let gayee aur RasikLal Jee bhi apne
kamare jakar so gaye.Agle hafte Ramesh aur Karishma apne
honeymoon manane apne ek dost, jo ki Shimla me rahata hai, chale
gaye. Jaise hi Ramesh aur Karishma Shimla airport se bahar nikle to
dekha ki Ramesh ka dost, Gautam aur uski bibi Suman dono bahar
apni car ke sath unka intezar kar rahen hain. Ramesh aur Gautam
age barj kar ek dusre ke gale lag gaye. Phir don one apni apni bibion
se introduce karwa diya aur phir car me baith kar ghar ki taraf chal
pare. Ghar pahunch kar Ramesh aur Gautan drawing me baith kar
puranee bato me mashgool ho gay aur Karishma aur Suman dusre
kamre me baith kar baten karne lage. Thori der ke bad Ramesh aur
Gautam apne bibion ko buakar unse kah ki khana lag do bahut jor ki
bhuk lagee hai. Suman ne phata phat khana laga diya aur charon
dining table par baith kar khane lage.
kramashah.........

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: मेरी चूत पसंद है

Unread post by raj.. » 02 Nov 2014 18:15


मेरी चूत पसंद है पार्ट--3

गतान्क से आगे.......

खाना खाते वक़्त करिश्मा देख रही थी कि रमेश खाना
खाते वक़्त सुमन को घूर घूर
कर देख रहा है और सुमन भी धीरे धीरे मुस्कुरा रही है.
करिश्मा को दाल मे कुछ काला नज़र आया. लेकिन वो कुछ नही
बोली.अगले दिन सुबह गौतम नहा धो कर और नाश्ता करने के बाद
अपने ऑफीस के लिए रवाना हो गया . घर पर करिश्मा, रमेश और
सुमन पर बैठ कर नाश्ता करने के बाद गॅप लड़ा रहे थे.
करिश्मा नेआज सुबह भी ध्यान दिया कि रमेश अभी भी सुमन को
घूर रहा है और सुमन धीरे धीरे मुस्कुरा रही है. थोरी देर के
बाद करिश्मा नहाने के लिए अपने कपड़े ले कर बाथरूम मे
गयी. करीब आधे घंटे के बाद जब करिश्मा बाथरूम से नहा
धो कर सिर्फ़ एक तौलिया लप्पेट कर बाथरूम से निकली तो उसने देखा की
सुमन सिर्फ़ ब्लाउस और पेटिकोट पहने टाँगे फैला कर कुर्सी
पर फैली आधी लेटी और आधी बैठी हुई है और उसके ब्लाउस के
बटन सब के सब खुले हुए है रमेश झुक कर सुमन की एक
चूंची अपने हाथों से पकड़ चूस रहा है और दूसरे हाथ से
सुमन की दूसरी चूंची को दबा रहा है. करिश्मा एह देख कर
सन्न रह गयी और अपनी जगह पर खड़ी की खड़ी रहा गयी. तभी
सुमन की नज़र करिश्मा पर पर गयी तो उसने अपनी हाथ हिला कर
करिश्मा को अपने पास बुला लिया और अपनी एक चूंची रमेश से
छुड़ा कर करिश्मा की तरफ बढ़ा कर बोली, "लो करिश्मा तुम भी मेरी
चूंची चूसो." रमेश चुप चाप सुमन की चूंची चूस्ता
रहा और उसने करिश्मा की तरफ देखा तक नही. सुमन ने फिर से
करिश्मा से बोली, "लो करिश्मा तुम भी मेरी चूंची चूसो, मुझे
चूंची चुसवाने मे बहुत मज़ा मिलता है तभी मैं रमेश
से अपनी चूंची चुस्वा रही हूँ." करिश्मा अब कुछ नही
बोली और सुमन की दूसरी चूंची अपने मुँह मे भर कर चूसने
लगी.थोरी देर के बाद करिश्मा ने देखा कि सुमन अपना हाथ आगे कर
के रमेश का लंड उसके पायजामे के ऊपेर से पकड़ कर अपनी मुट्ही
मे लेकर मरोड़ रही है और रमेश सुमन की एक चूंची अपने
मुँह मे भर कर चूस रहा है. अब तक करिश्मा भी गरम हो
गयी थी. तभी सुमन ने रमेश का पायजामे का नारा खींच
कर खोल दिया और रमेश का पायजामा सरक कर नीचे गिर गया .
पायजामा को नीचे गिरते ही रमेश नंगा हो गया क्योंकी वो
पायजामे के नीचे कुछ नही पहन रखा था. जैसे ही रमेश
रमेश नंगा हो गया वैसे ही सुमन ने आगे बढ़ कर रमेश का
खड़ा लंड पकड़ लिया और उसका सुपरा को खोलने और बंद करने
लगी और अपने होठों पर जीव फेरने लगी. ये देख कर करिश्मा
ने अपने हाथों से पकड़ कर रमेश का लंड सुमन के मुँह से
लगा दिया और सुमन से बोली, "लो सुमन, मेरे पति का लंड चूसो.
लंड चूसने से तुम्हे बहुत मज़ा मिलेगा. मैं भी अपनी चूत
मरवाने के पहले रमेश का लंड चुस्ती हूँ. फिर रमेश भी
मेरी चूत को अपने जीव से चाटता है." जैसे ही करिश्मा ने रमेश
का लंड सुमन के मुँह से लगाया वैसे ही सुमन ने अपनी मुँह
खोल कर के रमेश का लंड अपने मुँह मे भर लिया और उसको चूसने
लगी. अब रमेश अपनी कमर हिला हिला कर अपना लंड सुमन के
मुँह के अंदर बाहर करने लगा और अपने हाथों से सुमन की दोनो
चूंची पकड़ कर मसल्ने लगा. तब करिश्मा ने आगे बढ़ कर
सुमन के पेटिकोट का नारा खोल दिया. पेटिकोट का नारा खुलते ही
सुमन ने अपने चूतर कुर्सी पर से थोड़े से उठा दिए और करिश्मा ने
अपने हाथों से सुमन के पेटिकोट को खींच कर नीचे गिरा दिया.
सुमन ने पेटिकोट के नीचे पॅंटी नही पहनी थी और इसलिए
पेटिकोट खुलते ही सुमन भी रमेश की तरह बिल्कुल नंगी हो
गयी.करिश्मा ने सबसे पहले नंगी सुमन की जांघों को खोल
दिया और उसकी चूत को देखने लगी. सुमन की चूत पर झांते कोबहुत
ही करीने से हटाया गया था और इस समय सुमन की चूत बिल्कुल
चमक रही थी. सुमन की चूत से चुदाई के पहले निकलने वाला
रस रिस रिस कर निकल रहा था. करिश्मा झुक कर सुमन के सामने
बैठ गयी और सुमन की चूत से अपना मुँह लगा दिया. करिश्मा का
मुँह जैसे ही सुमन की चूत पर लगा तो सुमन ने अपनी टाँगे और
फैला दी और अपने हाथों से अपनी चूत को खोल दिया. अब करिश्मा
ने आगे बढ़ कर सुमन की चूत को चाटना शुरू कर दिया. करिश्मा
अपनी जीव को सुमन की चूत के नीचे से लेकर चूत के ऊपेर तक ला
रही थी और सुमन मारे गर्मी के करिश्मा का सर अपने हाथों
से पकड़ कर अपनी चूत पर दबा रही थी. उधर रमेश ने जैसे
ही देखा कि करिश्मा अपनी जीव से सुमन की चूत को चाट रही है तो
उसने अपना लंड सुमन के मुँह से लगा कर एक हल्का सा धक्का दिया
और सुमन ने अपना मुँह खोल कर रमेश का लंड अपने मुँह मे भर
लिया. नीचे करिश्मा अपनी जीव से सुमन की चूत को चाट रही थी
और कभी कभी सुमन की क्लिट को अपने दाँतों से पकड़ कर हल्के
हल्के से दबा रही थी.थोरी देर तक सुमन की चूत को चाटने और
चूसने का बाद करिश्मा उठ खरी हो गयी और रमेश का लंड
पकड़ सुमन के मुँह से निकाल दिया और सुमन से बोली, "सुमन अब
बहुत हो गया लंड चूसना और चूत चटवाना. चलो अब अपने पैर
कुर्सी के हत्थे के ऊपर रखो और रमेश का लंड अपनी चूत मे
पिलवओ. मुझे मालूम है कि अब तुम्हे रमेश का लंड अपने मुँह
मे नही अपनी चूत के अंदर चाहिए." और करिश्मा ने अपने
हाथों से अपने पति का खड़ा हुआ लंड सुमन की गीली चूत के ऊपर
रख दिया. चूत पर लंड के रखते ही सुमन ने अपने हाथों से
उसको अपनी चूत के छेद से भिड़ा दिया और रमेश की तरफ देख कर
मुस्कुरा कर बोली, "लो अब तुम्हारी बीबी ही तुम्हारे लंड को मेरी चूत
से भिड़ा रही है. अब देर किस बात की है. चलो चुदाई शुरू कर दो." इतना
सुनते ही रमेश ने अपनी कमर हिला कर अपना तना हुआ लंड सुमन
की चूत के अंदर उतार दिया. चूत के अंदर लंड घुसते ही सुमन ने
अपने पैर को कुर्सी के हथेलिओं पर रख कर और फैला दिए और
अपने हाथों से रमेश की कमर पकड़ कर उसको अपनी तरफ खींच
लिया. अब रमेश अपने दोनो हाथों से सुमन की दोनो चुचियों को
पकड़ कर अपनी कमर हिला हिला कर सुमन को चोदना शुरू कर दिया.
सुमन अपनी चूत मे रमेश का लंड पिलवा कर बहुत खुश थी और
वो मूड कर करिश्मा से बोली, "करिश्मा तेरे पति का लंड बहुत ही
शानदार है, बहुत लंबा और मोटा है. रमेश का लंड मेरे
बच्चेदानी पर ठोकर मार रहा है. तेरी ज़िंदगी तो रमेश से
चुदवा कर बहुत आराम से कट रही होगी?" करिश्मा तब रमेश
का एक हाथ सुमन की चूंची पर से हटा कर सुमन की चूंची
को मसल्ते हुए बोली, "हाँ, मेरे पति का लंड बहुत ही शानदार है और
मुझे रमेश से चुदवाने मे बहुत मज़ा मिलता है. मैं तो हर
रोज़ तीन - चार बार रमेश का लंड अपनी चूत मे पिलवाती हूँ. क्यों,
गौतम तेरी चूत नही चोद्ता? कैसा है गौतम का लंड ?"

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: मेरी चूत पसंद है

Unread post by raj.. » 02 Nov 2014 18:15


सुमन बोली, "गौतम का लंड भी अक्च्छा है और मैं हर रोज़ दो - तीन
बार गौतम के लंड से अपनी चूत चुदवाती हूँ. गौतम रोज़ रात को
मुझे रगड़ कर चोद्ता है और रात की चुदाई के समय मैं कम से
कम से चार-पाँच बार चूत का पानी छोड़ती हूँ. लेकिन रमेश के
लंड की बात ही कुछ और है. एह लंड तो मेरी बच्चेदानी पर ठोकर
मार रहा है. असल मे मुझे अपनी पति के अल्वा दूसरे लंड से
चुदवाने मे बहुत मज़ा आता है और जब से मैने रमेश को
देखा है, तभी से मैं रमेश का लंड खाने की फिराक मे थी. अब
मेरी मन की मुराद पूरी हो गयी है. अब शाम को जैसे ही गौतम ऑफीस
से घर आएगा उसका लंड मैं तेरी चूत मे पिल्वाउन्गि. तब देखना कि
गौतम कैसे तुमको चोद्ता है. मुझे मालूम है कि गौतम का लंड
अपनी चूत से खाकर तुम बहुत खुश होगी." करिश्मा चुप चाप
सुमन की बात सुनती रही और झुक कर रमेश का लंड सुमन की चूत
के अंदर बाहर होना देखती रही. थोरी देर के बाद करिश्मा नेझुक
कर सुमन की एक चूंची अपने मुँह मे भर ली और ज़ोर ज़ोर से
चूसने लगी. थोरी देर के बाद करिश्मा को एहसास हुआ कि कोई उसके
चूतर के ऊपेर से उसकी तौलिया हटा कर उसकी चूत मे अपना लंड
घुसेरने की कोशिश कर रहा है. करिश्मा चौंक कर पीछे मूड
कर देखी तो तो पाया की उसकी चूत मे लंड घुसेरने वाला और कोई
नही बाल्की गौतम है. हुआ ये कि गौतम के ऑफीस मे किसी का
देहांत हो गया था और इसलिए ऑफीस बंद कर दिया गया था और इसलिए
गौतम ऑफीस जाकर ही वापस आ गया था.गौतम अब तक करिश्मा के
बदन से उसकी तौलिया हटा कर अपना तननाया हुआ लंड करिश्मा की
चूत मे डाल चुक्का था और उसकी कमर को पकड़ के करिश्मा की
चूत मे अपने लंड की ठोकर मारना शुरू हो गया था. गौतम ज़ोर ज़ोर
से करिश्मा की चूत अपने लंड से चोद रहा था और अपने हाथों से
करिश्मा की चूंची को मसल रहा था. रमेश इस समय सुमन
को जोरदार धक्कों के साथ चोद रहा था और उसने अपना सिर घुमा
कर जब करिश्मा की चुदाई गौतम के साथ होते देखी तो मुस्कुरा
दिया और गौतम से बोला, "देख गौतम देख, मैं तेरे ही घर मे
और तेरे ही सामने तेरी बीवी को चोद रहा हूँ. तुझे तेरी बीबी की चुदाई
देख कर कैसा लग रहा है?" गौतम ने तब करिश्मा को चूमते
और उसकी चूंची को मलते हुए रमेश से बोला, "अबे रमेश, तू
क्या मेरी बीबी को चोद रहा है. अरे मेरी बीबी तो पुरानी हो गयी है
उसकी चूत मैं पिछले दो साल से रात दिन चोद रहा हूँ. सुमन की चूत तो
अब काफ़ी फैल चुकी है. अबे तू देख मैं तेरे सामने तेरी नयी
ब्वाही बीबी को कुतिया की तरह झुका कर उसकी टाइट चूत मे अपना लंड
डाल कर चोद रहा हूँ. अब बोल किसे ज़यादा मज़ा मिल रहा है. सही
मे यार रमेश, तेरी बीबी की चूत बहुत ही टाइट है मगर तेरी बीबी
बहुत चुड़दकर है, देख देख कैसे तेरी बीबी की चूत मेरा लंड
पकड़ रखी है." फिर गौतम करिश्मा की चूंची को मसल्ते हुए
करिश्मा से बोला, "ओह! ओह! मुझे करिश्मा की चूत चोदने मे बहुत
मज़ा मिल रहा है. आह! करिश्मा रानी और ज़ोर से अपनी गंद हिला कर
मेरे लंड पर धक्का मार. मैं पीछे से तेरी चूत पर धक्का मार
रहा हूँ. करिश्मा रानी बोल, बोल कैसा लग रहा मेरे लंड से अपनी
चूत चुदवाना. बोल मज़ा मिल रहा है कि नही?" तब करिश्मा अपनी
गंद को ज़ोर ज़ोर से हिला कर गौतम का लंड अपनी चूत को खिलाते हुए
गौतम से बोली, "चोदो मेरे राजा और ज़ोर से चोदो. मुझे तुम्हारी
चुदाई से बहुत मज़ा मिल रहा है. तुम्हारा लंड मेरी चूत की
आखरी छोर तक घुस रहा है. ऐसा लग रहा कि तुम्हारे लंड का
हरधक्का मेरी चूत से होकर मेरी मुँह से निकल पड़ेगा. और ज़ोर से
चोदो, और सुमन और रमेश को दिखा दो चूत की चुदाई कैसे की
जाती है."गौतम और करिश्मा की चुदाई देखते हुए सुमन
करिश्मा से बोली, "क्यों छिनार करिश्मा, गौतम का लंड पसंद
आया कि नही? मैं ना बोल रही थी कि गौतम का लंड बहुत ही
शानदार है और गौतम बहुत अक्च्ची तरह से चोद्ता है? अब जी
भर कर चुदवा ले अपनी चूत गौतम के लंड से. मैं भी अपनी चूत
रमेश से चुदवा रही हूँ." रमेश जोरदार धक्कों के साथ
सुमन को चिड़ाते हुए बोला, "यार गौतम, ये दोनो औरत बड़ी चुदसी
है, चल आज दिन भर इनकी चूत चोद चोद कर इनकी चुतो को भोसरा
बनाता हूँ. तभी इनकी चुतो की खुजली मितेगी." इतना कह कर
रमेश सुमन की चूत पर पिल पड़ा दना दान चोदने लगा.