रीटा की तडपती जवानी compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit pddspb.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रीटा की तडपती जवानी

Unread post by rajaarkey » 02 Nov 2014 10:44


आखीर मुकाबिला करने को तैयार रीटा ने दाँत भींच कर जैसे तैसे टेबल का पाया पकड और पोजीशन सम्भाल कर अपनी शानदार गाँड को और उपर उठा दी। राजू के ठप्पौं की वजहा से टेबल और सौफे की चरर्ऽऽऽ चरर्ऽऽऽ की चरमराहट होने लगी। अब नन्ही रीटा भी अपनी गाँड को लौडे़ की ताल से ताल मिलाने लगी राजू भी अब रीटा की गाँड से पूरा का पूरा लन्ड़ खींच कर धक्के पे धक्के मारने लगा तो रीटा मजे के मारे चिल्ला उठी। सुन्दर रीटा की उछलती सिल्की गाँड को देख राजू उत्त्तेजित हो निगौड़ी छौकरी की बुंड को ओर जोर से मारने लगा।

अब तक बदमाश रीटा ने राजू के शैतान लौड़ पे पूरी तरहा काबु पा लिया था। रीटा लौड़े को अपनी गाँड में भींच भींच कर पीसने लगी। जब राजू धक्के मारता तो रीटा अपनी गाँड को बिलकुल ठीला छोड कर गाँड पीछे ओर उपर उछाल देती और जब राजू लौड़े को बाहर खींचता तो रीटा अपनी टाईट गाँड को जोर से सुकौड़ कर लौड़े को भींच सा लेती। लन्ड़ व गाँड की लड़ाई की घचर पचर और रीटा की गाँड पे राजू के मन्ज़ी तौड़ घस्सै की धपा धप की आवाज ने रीटा के बचे खुचे होश उडा दिये। जंगली चुदाई से चूत डबडबा गयी और सुराख से टप टप पानी बहने लगा। राजू का खम्बे सा लम्बा लौड़ा अपनी नन्ही सी गाँड मे गपक कर रीटा का चूत मरवाने का आत्मविश्वाश बुलंद हो गया था। राजू ने पूरे आधे धण्टे तक टेबल की चरमराहट को बनाये रखी। चुदास से पगलाई और मस्ताई हुई रीटा "डफली वाले डफली बजा" की परोडी गाने लगी जो कि रीटा ने मौनिका से सिखी थी -


लौड़े वाले लन्ड़ दिखाऽऽऽऽमेरी गाँड तुझे बुलाती है आऽऽऽऽ
तू चौदे मे चुदाऊऽऽऽऽऽ

गाँड मे गपक लूंगी
चूत मे सटक लूंगी
कर लूंगी झट ईस को अंदरऽऽऽ

लौड़े वाले लन्ड़ दिखाऽऽऽऽ
मेरी गाँड तुझे बुलाती है आऽऽऽऽ
तू चौदे मे चुदाऊऽऽऽऽऽ

हवस मे अन्धी रीटा अपने आप को भूल कर अश्लील हो गई और बकबक करने लगी "भईया और जौर से धक्के मारीये ईऽऽऽऽ आहऽऽऽ आह भईया ऊईऽऽऽ मांऽऽऽ हायऽऽऽ रेऽऽऽ मैं चुद गई रे मेरी मम्मीऽऽऽऽ सीऽऽऽ बडा मज़ा आ रहा है। भईया अच्छी तरह से चौदीये, फाड़ दीजीये मेरी निगौड़ी गाँड को ऊफऽऽ ईसऽऽऽ ईसऽऽऽ बहुत सताती है साली मां की लौड़ी, आह मेरे गाँडू भईया लूट लो मेरी जवानी, ओर जोर से, येस ओर जोर से वाहऽऽऽ फाड डालोऽऽऽ चौदू,चौद अपनी बहन की चूत कोऽऽऽ, कैरी आन डौन्ट स्टाप यू फकर बास्टर्ड़" रीटा जैसी मासूम स्कूल गर्ल के मुँह से शानदार गालीयाँ सुन कर राजू का ठरक चरम सीमा तक पहुच गया।

"लेऽऽऽ माँ की लौड़ी, हाय मेरी जलेबी, हाय मेरी रस-मलाई, ये ले भौंसड़ी की, चौद के रख दूंगा, फाड़ के रख दूंगा, साली रंडी कुतीया, तेरी चूत पर बहुत चर्बी चढ गई है, ले हरामजादी ले " राजू ने रीटा की गुदाज और गदराई हुई कमर मे अुंगलीया धंसा दी और लौंडीयाँ उछल उछल कर जानलेवा चोदा मारने लगा। ज़ालिम राजू ने आखिरी कमरा हिला देने वाले आटोमिक धक्के रीटा सम्भाल ना पाई और दोनों चूदाई करते करते कारपेट पर ठेर हो गऐ। गिरने से राजू के लन्ड रीटा की गाँड में जड तक दुबक गया और दोनो ठरक की चरम सीमा पर पँहुच गये। राजू के लन्ड़ ने फव्वारै छौडने शुरू किया, तो रीटा की चूत ने भी झरझरा कर बिना चुदे ही पानी छोड दिया। मजे से राजू ने रीटा को इस कदर बाहों मे दबाया, तो रीटा को लगा की उस के उपर से बुलड़ोज़र निकल गया हो और हडीया जैसे चरमरा सी उठी।

इस ताबा तौड़ चुदाई से रीटा का रौम रौम पुलकित हो गया और उस की आँखों मे खुशी के आंसू छलछला पडे। रीटा ने कुत्तियाँ की तरह राजू के लन्ड को अपनी नन्ही सी गाँड को सुकोड कर लन्ड को निचोडने लगी। थोडी देर बाद राजू ने पटाक की आवाज से अपना लन्ड़ बाहर खींचा तो गुलाबी गाँड हुच हुच कर लौड़े की झाग वाला पानी उगलने लगी।

वासना का तूफान खत्त्म होने पर राजू के नीचे दबी रीट हांफती और अपनी गाँड सहलाती बोली "आहऽऽऽ भईया आप तो बडे ही कसाई निकले उफऽऽऽ सारा बदन तोड़ मरोड के रख दिया हायऽऽऽऽ कितनी जोरो के मारी है मेरी उफऽऽ"। राजू रीटा की गाँड पर चटाक से चपत जमाते बोला "बेब्बी तुम भी तो ये उछाल उछाल कर मेरे लन्ड़ के परखच्चे उड़ने पे तुली हुई थी"। चुसी और चुदी हुई रीटा बुरी तरहा शरमा कर अपना चेहरा अपने हाथो मे ढांप कर राजू की छाती मे छिपने की कोशिश करने लगी।

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रीटा की तडपती जवानी

Unread post by rajaarkey » 02 Nov 2014 10:45


रीटा की चूत की ठुकाई



रीटा को लुत्त्फ तो बहुत आया पर पूरी सन्तुष्टी नहीं हुई। बेचैन रीटा को लगा कि अगर उसने आज चूत नही मरवाई तो वह पागल हो जाये गी दूसरी तरफ से रीटा राजू के मोटे और लम्बे लन्ड से डर भी रही थी। खडे लौडे का साईज़ सोच कर रीटा की चूत थर थर कांप उठती थी।

राजू से अलग हो कर रीटा शीशे के सामने खडे हो अपनी हालत सुधारने लगी। रीटा ने अपने मुसली मुचडी और गीली सकर्ट और शर्ट उतार फैंकी और जन्मजात नंगी हो गई अब रीटा के जि़स्म हाई हील और जवेलरी के ईलावा पर एक धज्जी भी नही थी। राजू को खड़की और चुदी हुई रीटा और भी मस्त और सैक्सी लगने लगी। रीटा के गौरे गौरे बदन पर राजू के चुम्बनौं की मोहरे, दांतौ के नीले नीले कचौके, हाथो के ठप्पे अुंगलीयौ की धसावट, घुटनों और कोहनीयोँ पर कारपैट की रगड के लाल निशान गीली जांघें बहुत ही लुभवनी लग रहीं थीं। बिखरे उलझे बाल आखो का फैला काज़ल और मेकअप, गीली चूत, रिसती गाड, चुसे हुऐ चुच्चे और सूजे हौंट तो देखते ही बनते थे।

राजू का लन्ड़ दुबारा छत की तरफ तना देख रीटा डर कर चीख मार के भागने लगी, तो राजू ने रीटा को उठा किंग साईज़ बैड पर पटक दिया और रीटा की अंगुलीयों मे अंगुलीयां पिरो कर फडफडाती रीटा को दबौच कर चित कर लिया। राजू रीटा के घुटने मोड कर रीटा को कंधौ से मिला दिये और बोला "जाती कहा है साली, मां की लोडी अभी तो तेरी मां की चूत भी मारनी है"

बेचारी तीन-फोलड हुई रीटा किसी घायल हिरणी की भांती छटपटा कर रह गई "आहऽऽऽ नही छोडो मुझे, प्लीज़ छोडो नाऽऽऽ मैं मर जाऊगी आप का बहुत बडा है"। पर जब राजू ने अपना लन्ड़ का सुलगता सुपाड रीटा की नन्ही चूत के चीरे पर आगे पीछे फिसला तो रीटा का बदन ढीला पड गया और ना नुकर हां मे तबदील हो गई। रीटा मचलने के बहाने अपनी फडफडाती चूत को राजू के लन्ड़ को चूत मे गपकने लगी, तो राजू ने शरारत मे लन्ड़ को पीछे खींच कर रीट को सताने लगा तो रीटा ने राजू की गाल पर जोर से चपेड लगा कर गन्दी गन्दी गालीयां बकने लगी "बहनचोद मां के लोडे अब डाल अंदर और चोद अपनी बहन को, साले मादरचोद, चोद नाऽऽऽऽ"।

राजू ने रजामंद रीटा को जैसे ही ठीला छोड़ा तो रीटा ने झट से राजू का लन्ड़ पकड कर अपने चूत के मुह पर सटा के नीचे से खींच के धक्का जमा दिया। उपर से रीटा ने अपनी हाई हीलस राजू के चूतडो मे चुभो कर राजू को अपनी तरफ दबा लिया। पलक झपकते ही राजू का लन्ड़ का आलुबुखारे सा सुपाड रीटा की चिकनी चूत मे था। उपर से रीटा ने राजू के लन्ड के सुपाड़े को चूत से चिकोटी काटने लगी। रेशम सी मुलायम चूत तन्दूर सी गरम और दहक रही थी। और पहली चुदाई के पानी से अभी भी पच्च पच्च गीली थी।

राजू का लन्ड़ अब रीटा की चूत की झिल्ली पर दबाव डाल रहा था पल भर के लिये दोनों ठहर से गये और राजू ने रीटा की झील सी आँखों मे झाँख कर पूछा "चोदू"?

"चौदीये नाऽऽऽ" चुदास की ठरक भाव विभोर हुई रीटा शहद से मीठे स्वर मे बोली। पीडा के डर से आखे भींच और थुक निगलती रीटा ने टांगो ने घडी के दस बज कर दस बजा दिये।

राजू ने रीटा की चीख को दबाने के लिये रीटा के होंटों को फिर अपने होंटों में दबा लिया और चूसने लगा। राजू ने कडियल लन्ड़ को बाहर खींच कर वापिस रीटा की चूत मे पूरे वेग से वापिस धकेल दिया। लन्ड राजा अपने ट्टटो की सेना समेत, रीटा रानी की चूत की सील को तोडता और धज्जीया उडाता हुआ, चूत की मुलायम दीवारो को बेरहमी से रगडता हुआ अंदर और अंदर और अंदर घुसता चला गया।

दर्द की वजह से रीटा बुरी तरह से राजू की मजबूत बाहों मे फडफडाई और उस की आँखें बाहर उबल पडी। राजू अब भी बुरी तरह से रीटा के होंटों के चबाये और चूसे जा रहा था। और रीटा की चीखे गले मे हि घुट के रह गई थी और वो घूं घूं की अवाजे निकलने लगी। रीटा अपनी छोटी छोटी हथेलीयों से राजू को अपने उपर से धकेलने की असफल कोशिश कर रही थी, पर राजू ने लौडियां को अपने शिकंजे मे बुरी तरहा से जकड रखा था। रीटा की चूत से निकलता पानी मे हलका सा खून भी आने लगा था। पीडा मे करहाती रीटा को मौनिका की बात याद आ गई की चूत और दूध गर्म हो कर ही फटते हैं और दोनो के फटने की अवाज नही आती बस फट जातें हैं।

लगभग दो मिनट तक राजू दर्द से बिलबिलाती और करहाती रीटा को बाहो मे दबाये उस की चूत की टाईटनेस, गरमी और नरमी का मजा लेता यू ही पडा रहा। जैसे ही चूत और लन्ड की गरमी एक हुई और बेहाल हुई रीट ने निढाल सी हि कर चूत ढीली छोडी, तो कसाई राजू ने अधमुइ रीटा को रूई पिजंने वाली मशीन की तरहा पिजंना शुरू कर दिया। रीटा के उपर की साँस उपर और नीचे की साँस नीचे रह गई। पहले एक मिनट तो रीटा को लगा वह मर जायेगी, परन्तु तरुन्त ही रीटा का दर्द काफूर हो गया और वह आलौकिक सवर्गीया सुख मे विचरण करने लगी। चुदती चूत ने ठेर सारा पानी उगल दिया, तो लन्ड बिना तकलीफ अंदर बाहर घचर पचर की मीठी मीठी आवाज के साथ चूत में अन्दर बाहर फिसलने लगा।

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रीटा की तडपती जवानी

Unread post by rajaarkey » 02 Nov 2014 10:46



अब राजू ने छमक छल्लो को चुच्चीयों से पकड कर ठप्पे पे ठप्पे मारने आरम्भ किये, तो रीटा की ठरक सातवें आसमान पर और मस्ती अंतिम छोर तक पहुच गई। अब तो बेशर्म रीटा अपनी चूत को पूरी तरह से ठीला छोड कर गाँड को एक एक फुट उपर उछाल देती। तब राजू तैश में वेग से धक्का मार कर उस की उछाल को दुगने वेग से दबा देता, तो रीटा गुदगुदे बैड मे धंस सी जाती। फाईनली लन्ड का मुँह, पीडा से बिलबिलाती रीटा की बच्चेदानी मे फंसा दिया।

राजू का लन्ड जब जब रीटा की चूत मे अंदर जाता तो राजू के लन्ड की गरारी पर चूत की मुलायम दिवारो की रगड से लन्ड़ मजे़ से गदगदा उठता और राजू बकरी सा मिनमिना उठता। तब लन्ड रीटा के दाने को रगडता हुआ रीटा की बच्चेदानी से टकरा कर रीटा को गुदगुदा जाता, तो हरामी रीटा मजे से दोहरी हो प्यार मे अपने चुच्चौ को राजू के सीने से रगड कर, राजू के मुह पर चुम्बन जड देती। जब राजू लौडे को बाहर खींचता तो रीटा अपनी चूत की फाँकौ को ज़ोर से सुकौड कर लौडे को पकड सा लेती। एक बार तो राजू को लगा कि रीटा की चूत उस के लन का कचूमर सा बना देगी। नन्ही रीटा के जोश खरोश के सामने राजू के हवली लौडे की हवा सरक गई।

चूत बेहद टाईट और लौड़ा बहुत मोटा होने की वजह से रीटा की चूत से पानी फिच्चक पिच्चक कर के पिच्चकारीयों जैसे निकल रहा था। रसीली चूत के पानी से झाग और झाग से बुलबुले बन के फटते जा रहे थे। लन्ड़ व चूत से पच्च पच्चर फच्च फच्चर की गुन्डी आवाजे, मस्ताई हुई रीटा की सुरीली ईसऽऽऽ ईसऽऽऽ सिसकारीयां और किलकारीयां, पलंग की चरमराहट राजू के दिल दहला देने वाले ठप्पौं की थाप की आवाज और दोनो की बहकी बहकी साँसों ने वातावरण को और भी गर्म और रंगीला बना दिया।

वासना के उन्माद मे रीटा आपे से बाहर हो कर मदहोशी में अनाप शनाप बकने लगी "हायऽऽऽ ले ले मेरी चूत, ईसस ईससससस चोद साले मां का लौडे,चोद लडकी चौद चूतीया और जौर से धक्के मार, ऊईईईई मांऽऽऽ, येसससस फासटर, याहऽऽऽ, हारडर, आहऽऽऽ आह फाड दे मेरी गुलाबो को सीईईईई,डोन्ट स्टाप रे, हाए मैं चुद गई रेएएए, मेरी मम्मीईईईई डेडीईईईई जीइइइइ बडा मज़ा आ रहा है, चोद बहनचोद चोद अपनी बहन को, चोद मादरचोद आहऽऽऽ मेरे चोदू राजा मसल दे मेरी जवानी को, चटनी बना दे मेरी एकलौती चूत की, ईस ईईईईईस ले मार ले अपनी बहन की चूत, भौसड़ी के हाय मेरे राजाऽऽऽऽ चक दे फटे मरी बासटड बन्नौ देएएए मेरी चूत ले वाहऽऽ शाबाश और जोर से यू बासटर्ड मदर फकर"।

"ले सम्भाल अपने बाप के लौडे को ये लेएए और लेएए हायएएएएएए मेरी रानी और जौर से कमर हिला आहऽऽऽ, ये ले भौंसड़ी की, आज चौद दूंगा,तेरी ऐसी की तैसी, तेरे जैसी कई रंड़ीयौं को मैने चौदा, साली कुत्तियां, तेरी चूत फाड के तेरे गले मे डाल दूंगा, मां की लौडी हंम्फ हंम्फ" करतो राजू ने अपने लन्ड़ से रीटा की चूत मे आठ बना कर चोदना शुरू किया, तो रीटा की खुशी के मारे चीखें ही निकल गई।

"हाय रेएएएएएए में तो गईईईईईईईईईईईई" यह कह रीटा राजू को अपनी गौरी गौरी टांगो और बाहो मे दबोच कर राजू से बुरी तरह से चिपक गई और जंगली बिल्ली की तरह राजू के कन्धे में दाँत गडा दिये और भूखी चूत की दीवारों को लन्ड पर पूरे जोर से कस दीं। चोदू राजू रीटा की टाईट चूत के चूस्से को सह नही पाया और वह भी रीटा के साथ झड़ने लगा। धमाके पे धमाका और पिच्कारीयो पे पिच्कारीयां। समय रूक सा गया। रीटा सूखे तिनके की भान्ती कंपने लगी। दोनो हांफते हुऐ एक दूसरे मे समा जाने की कोशिश कर रहे थे। हाय हाय करती रीटा अपनी प्यासी चूत से राजू के लौड़े को पूरा जौर लगा लगा कर चूस रही थी। राजू को लगा की जैसे रीटा की जानदार चूत ऊस के लन्ड़ को पी ही जायेगी। राजू का लौडा भी टाईट चूत की रगडाई से लाल और जल सा रहा था। दोनो का भिन्डा कुत्ते और कुत्तिया की चुदाई के बाद की तरह अब भी भिडा़ हुआ था।